एक कमल का फूल तो मैनपुरी से भी खिलाना है:- ए.के. शर्मा

एक कमल का फूल तो मैनपुरी से भी खिलाना है:- ए.के. शर्मा

एक कमल का फूल तो मैनपुरी से भी खिलाना है:- ए.के. शर्मा

एक कमल का फूल तो मैनपुरी से भी खिलाना है:- ए.के. शर्मा

By:- Amitabh Chaubey 
लखनऊ/मैनपुरी(एपीआई एजेंसी)):- मंत्री ए.के. शर्मा ने मैनपुरी लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी और वर्तमान में पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह के समर्थन में मैनपुरी में आयोजित बूथ अध्यक्ष सम्मलेन में कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मैनपुरी की जनता ने समाजवादी पार्टी को चार बार प्रदेश की बागडोर सौंपी, मगर सपा ने सिर्फ गुंडई, दबंगई, ज़मीनों पर कब्जे, हत्या, लूटमार, बलात्कार और महिलाओं से अभद्रता के साथ ही आमजनमानस में डर और भय का माहौल स्थापित  किया। सपा ने वोट तो आपसे लिया, मुख्यमंत्री अपने घर का बनाया और विकास सिर्फ अपने कुनबे का किया।

उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश की भाजपा सरकार ने सुशासन और गुड गवर्नेंस का जो उदाहरण पेश किया है उससे विपक्ष मुद्दा विहीन हो गया है, इसलिए घूम-घूमकर सिर्फ भ्रम फैलाने का काम कर रहा है। मंत्री शर्मा ने कहा कि अबकी बार 400 पार के संकल्प को पूरा करते हुए मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाने में एक कमल का फूल मैनपुरी से भी खिलाना होगा। वो समय बीत गया जब लोग कहा करते थे कि मैनपुरी एक अभेद्य  किला है। आप सभी की लगन और मेहनत से ठाकुर जयवीर सिंह ने मैनपुरी सादर विधानसभा सीट पर जीत दर्ज कर इस भ्रम को ख़त्म कर दिया है। उसी जोश के साथ इस बार मैनपुरी लोकसभा सीट से जयवीर सिंह को जीत दिलाकर लोकसभा पहुंचाना है और मोदी को एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनाने में एक कमल मैनपुरी का भी खिलाना है। 

मंत्री शर्मा ने कहा कि जयवीर सिंह विकासवादी नेता हैं, पिछले दो वर्षों में उन्होंने मैनपुरी के लिए जो किया है, वो तो आप देख ही रहे हैं। आपके यहाँ करोड़ों की सौगात दी है। जयवीर सिंह ने मऊ और आज़मगढ़ के लिए भी मदद किया। मंत्री शर्मा ने कहा कि मैनपुरी के एक-एक काम के लिए जयवीर सिंह बिलकुल सजगता से जुटे रहते हैं। इसी वित्तीय वर्ष में जयवीर सिंह ने अपने जिले के लिए कई कार्यों की मुझसे मंजूरी कराई है और उनमें से कई कार्य तो प्रगति में भी हैं। इसी क्रम में मैनपुरी के लिए पौने 5 करोड़ रूपये की पेयजल योजना के लिए स्वीकृति भी हो गयी है। यह भाजपा के काम करने की शैली है। उन्होंने कहा कि मैनपुरी ने जिस पार्टी को 4-4 बार मुख्यमंत्री दिया, उसने मैनपुरी के लिए  कुछ नहीं किया। सिर्फ वोट लेकर अपनी राजनीति चमकाई और अपने कुनबे और सगे सम्बंधियों का विकास किया। मैं जब पहली बार इटावा गया तो सोचा था, कि जिस जिले ने सपा को चार बार मौका देकर सूबे की कमान सौंपी, उनके 4-4 मुख्यमंत्रियों ने कुछ तो किया ही होगा इस जिले के लिए।

मगर देख कर बहुत अफ़सोस होता है कि उस क्षेत्र की दशा यह है। यही स्थिति आज़मगढ़ में भी है, जीतकर राजनीती चमकाने, अपने सगे सम्बंधियों को नौकरी देने के अलावा कुछ नहीं किया। वहीं हमारे प्रधानमंत्री पूरे देश को अपना परिवार मानते हैं, और बिना जाति और धर्म देखे सभी के विकास की बात करते हैं। महिलाएं, युवा, किसान और गरीब ही हमारी जातियां हैं जिनके विकास के लिए भारतीय जनता पार्टी पूरी तत्परता से कार्य करती रही है। मंत्री शर्मा ने समाजवादी पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र का सही अर्थ बताते हुए कहा कि यह सिर्फ झूठ और कागजों का एक पुलिंदा है। उसमे की कुछ बातें बताते हुए कहा कि समाजवादी, तथाकथित समाजवादी और इंडी गठबंधन के लोगों को आजकल संविधान की बहुत चिंता हो रही है।

समाजवादी पार्टी बाबा साहब अम्बेडकर के संविधान को लेकर भ्रम फैलाने का काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी का संविधान क्या है यह आप सभी को पता ही होगा, जिसकी लाठी उसकी भैंस, उल्टा चोर कोतवाल को डांटे, और खाली प्लाट हमारा है। इसी संविधान को लागू करने के लिए समाजवादी पार्टी और इंडी 'ठगबंधन' के लोग जोरशोर से भ्रम फैलाने का काम कर रहे हैं। इसी का उदाहरण है कि देश में पहली बार ऐसा हुआ था कि मैनपुरी लोकसभा का चुनाव रद हुआ था। पिछले तीन साल में इटावा-मैनपुरी के कई मामले आये जिसमें पीड़ितों ने बताया कि वहा तो सब हाई कमान के आदेश पर चलता है। खुलेआम खाली पड़ी ज़मीनों को कब्ज़ा करना और विरोध करने पर फर्जी मुक़दमें दर्ज कराकार जेल भिजवाने का काम करना, यह हैं समाजवादी पार्टी के निजी संविधान का मुख्य बिंदु।

यही इनका अलिखित  संविधान है, और इसी प्रकार से कांग्रेस का भी   अलिखित संविधान है। वह यह कि एक ही पार्टी का, एक ही परिवार का शासन निरंतर चलता रहे। यह दोनों पार्टियां बाबा साहेब के संविधान को लेकर नहीं  बल्कि अपने अलिखित संविधान को लेकर ज्यादा चिंतित हैं और भ्रम फैलाने का कार्य कर रही है। समाजवादी पार्टी के शासन में महिलाओं के अपमान और उनसे अभद्रता की इतनी बातें प्रचलित हैं कि आज महिला कल्याण के लिए इनके झूठ के पुलिंदे "घोषणा पत्र" पर जनता को विश्वास नहीं रह गया है।

उन्होंने कहा कि जनता समाजवादी पार्टी और कांग्रेस की नीतियों को पहचान चुकी है। समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र का  और झूठ आपने पढ़ा होगा, इन्होंने कहा  है कि किसानों की बिजली माफ़ कर देंगे। किस प्रकार से भ्रम फैलाने रहे हैं। आप सभी जानते हैं कि उत्तर प्रदेश सरकार ने पहले ही किसानों की बिजली माफ़ कर दिया हैं। समाजवादी सिर्फ भ्रम फैलाकर आपके महुमूल्य वोट को हासिल करने का भरपूर प्रयास कर रहे हैं। 

आप सभी उपस्थित बूथ अध्यक्ष और कार्यकर्त्ताबन्धु घर-घर जाकर जनता को समाजवादियों के कुकृतयों और फैलाये जा रहे भ्रम के बारे में बताएँगे और  भविष्य को सुरक्षित करने हेतु भाजपा प्रत्याशी को और भी मजबूत बनाते हुए भारी मतों से विजयी बनाएंगे। मंत्री शर्मा ने अबकी बार 400 पार, फिर एक बार मोदी सरकार के संकल्प को दोहराते हुए कार्यकर्ताओं से कहा कि आपको प्रत्येक वोटर के पास जाकर मुफ्त राशन, आवास, शौचालय, फ्री गैस सिलेंडर, आयुष्मान कार्ड जैसी योजनों से उन्हें मिल रहे लाभ को याद दिलाना होगा। क्योंकि मोदी और योगी जनसुविधाओं को जनता तक पहुँचाने का काम कर दिया है, अब आपकी जिम्मेदारी है कि आप जनता को मिल रहे लाभ के बारे में बताये और मोदी और योगी के हाथों को मजबूत बनायें। जनता को सुशासन और सुरक्षा की बात बतायें, भगवान राम के दिव्यधाम की प्राणप्रतिष्ठा के बारे में बतायें। मोदी के 2047 तक विकसित भारत के संकल्प में अपने जिले, अपनी लोकसभा को भी विकसित क्षेत्र की श्रृंखला में लाने का काम करना है। 

बूथ अध्यक्ष सम्मलेन में भाजपा प्रत्याशी जयवीर सिंह, भोगांव विधायक राम नरेश अग्निहोत्री, जिलाध्यक्ष भजपा मैनपुरी राहुल चतुर्वेदी, जिला प्रभारी अनिल चौधरी, लोकसभा संयोजक अलोक गुप्ता, लोकसभा प्रवासी विवेक सरस्वत, विधानसभा प्रभारी गौरी शंकर शर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष शिव दत्त भदौरिया, अरविन्द तोमर, प्रदीप सिंह चौहान, विधानसभा संयोजक श्रीमती ममता राजपूत, पूर्व विधयाक नरेंद्र सिंह राठौर, चेयरमैन प्रेम सिंह शाक्य, श्रीमती संगीता गुप्ता, प्रतिनिधि जिपा अध्यक्ष गोविन्द भदौरिया, ब्लॉक प्रमुख मनेश सिंह चौहान, चेयरमैन बेवर सरिता कांत भाटिया आदि समेत हजारों की संख्या में बूथ अध्यक्ष और हज़ारों कार्यकर्त्ता मौजूद रहे।